Tuesday, January 20, 2009

HigherEducation

आपका यह मंच शिक्षको के विचार व्यक्त कराने के लिए ,विचार विमर्श करने के लिए बहुत प्रशंसनीय है .उच्च शिक्षा के गिरते स्तर पर भी ध्यान देना बहुत आवश्यक है .आज महाविद्यालयों की स्थिति बद से बदतर होती जा
रही है.लगभग समस्त स्थान पर यही हाल है.उम्रदराज शिक्षक वेतन वृद्धि तो पूरी चाहते है पर अध्यापन नही ।
ये कर्तव्य का भर वे शिक्षक उठा रहे है जो अस्थाई है व कई वर्गों में कम कर रहे है.क्या यह चिंता का विषय नही
होना चाहिए कि जिन युवा पर राष्ट्र को दिशा देने का भार डाला जा रहा है वह स्वयं कितने दिशाहीन होते जा रहे
है .सूचना के इस युग में उच्च शिक्षा आयोग के द्वारा सूचना न दिया जाना इस तथ्य को सिद्ध करता है कि
भ्रष्टता चरम पर है.
Post a Comment